अवैध रेत की ट्रेक्टर-ट्रॉली ने ले लीं 2 की जान


अवैध रेत की ट्रेक्टर-ट्रॉली ने ले लीं 2 की जान

बेकाबू रेत माफिया ने फिर ढाया कहर
नगरसंवाददाता, मुरैना

चम्बल नदी से अवैध रेत उत्खनन थमने का नाम नहीं ले रहा। इस अवैध उत्खनन के चलते लम्बे समय से कई बड़ी दुर्घटनाऐं सामने आई हैं, जिसमें कई लोगों ने जान भी गवाई है। शनिवार की सुबह एक बार फिर चम्बल के इस अवैध रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली ने दो बच्चों की जान ले ली। उक्त घटना के बाद पुलिस ट्रेक्टर ट्राली चालक को पकडने में नाकाम रही है।
चम्बल रेत से अवैध उत्खनन का कार्य वन विभाग खनिज विभाग सहित टास्कफोर्स की टीम पूरी तरह से नाकाम रही है। वन विभाग व खनिज विभाग तथा प्रशासन की नाकामी के चलते अवैध रेत का उत्खनन करने वाले इन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। पुलिस प्रशासन इन रेत माफियाओं पर कार्रवाई नहीं करता और वन विभाग तथा खनिज विभाग का हवाला देकर अपना पल्ला झाड लेता है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस की शह पर ही इन रेत माफियाओं के हौसले बुलंद हैं, अभी हाल ही सिविल लाइन थाने में पदस्थ थाना प्रभारी अजय चानना द्वारा इन रेत माफियाओं पर निरंतर कार्रवाई करने का बीडा उठाया है। शनिवार की सुबह सरायछौला थाना क्षेत्र के अंतर्गत बडेरिया मृगपुरा गांव के समीप अपने घर के बाहर खेल रहे नाबालिग सूरज व बंटी पुत्र जसवंत कुशवाह निवासी बडेरिया मृगपुरा को अज्ञात रेत की भरी ट्रेक्टर ट्राली ने कुचल दिया। जिससे उनकी मौत हो गई। हालांकि गांव वालों ने तेज गति से भाग रहे अवैध रेत की ट्रेक्टर ट्राली का पीछा किया, किंतु उनके हाथ भी कुछ नहीं लगा। पुलिस उक्त घटना के उपरांत मौके पर पहुंची और काफी छानबीन करने के बावजूद भी खाली हाथ बापस लौटकर आई। रेत माफियाओं के बुलंद हौसले के बजह से व प्रशासन की नाकामी के चलते आयेदिन ऐसी दुर्घटनाएं होती रहती हैं, किंतु प्रशासन इन माफियाओं पर कार्रवाई करने से पूरी तरह से नाकाम साबित हुआ है। जब भी कोई घटना होती है तो आनन फानन में मृत पडी टास्कफोर्स टीम को पुन: जीवित किया जाता है और उसे बीहड के इलाके में सर्चिंग के लिए भेज दिया जाता है, जबकि घटना से पूर्व के दिनों में टास्कफोर्स टीम लुप्त हो जाती है।

अवैध रेत से भरी ट्राली सहित कट्टाधारी दबोचा
मुरैना। सिविल लाइन थाना पुलिस ने बीती रात एक रेत से भरा ट्रेक्टर ट्रॉली को मुरैना गांव से पकड़ा है वहीं सिविल लाइन थाने में पदस्थ शिवप्रताप सिंह की मुस्तैदी के चलते एक युवक को 315 बोर के अवैध कट्टे के साथ पकड़ा गया। पुलिस कप्तान ने शिवप्रताप को 2000 रूपए का नगद पुरस्कार देने की बात भी कही है। जानकारी के अनुसार रिंकू पुत्र नेकराम गुर्जर निवासी मेवदा अपने ट्रेक्टर  ट्रॉली में चम्बल रेत भरकर ले जा रहा था, तभी पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस ने ट्रेक्टर ट्रॉली सहित ड्रायवर को भी धर दबोचा। वहीं दूसरी घटना में  सतीश गुर्जर निवासी मेवदा 315 बोर का कट्टा लेकर वारदात की नीयत से घूम रहा था। पुलिस ने मुखविर की सूचना पर आरोपी को पकड़े का प्रयास किया।

 इस दौरान आरक्षक शिवप्रताप की आरोपी से झड़प भी हुई, लेकिन आरक्षक शिवप्रताप ने साहस का परिचय देते हुए आरोपी को धरदबोचा पुलिस ने सतीश गुर्जर पर आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई की है तो वहीं पुलिस ने  ट्रेक्टर चालक पर कार्रवाई कर रेत से भरी ट्रेक्टर ट्रॉली की सूचना वन विभाग को दे दी है। सिविल लाइन थाना प्रभारी अजय चानना ने बताया कि पुलिस कप्तान ने उनके आरक्षक शिव प्रताप को नगद पुरस्कार के रूप में दो हजार रूपए देने की घोषणा की है।
फोटो फाइल- 17 मुरैना 01

बेकाबू रेत माफिया ने फिर ढाया कहर
नगरसंवाददाता, मुरैना

चम्बल नदी से अवैध रेत उत्खनन थमने का नाम नहीं ले रहा। इस अवैध उत्खनन के चलते लम्बे समय से कई बड़ी दुर्घटनाऐं सामने आई हैं, जिसमें कई लोगों ने जान भी गवाई है। शनिवार की सुबह एक बार फिर चम्बल के इस अवैध रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली ने दो बच्चों की जान ले ली। उक्त घटना के बाद पुलिस ट्रेक्टर ट्राली चालक को पकडने में नाकाम रही है।
चम्बल रेत से अवैध उत्खनन का कार्य वन विभाग खनिज विभाग सहित टास्कफोर्स की टीम पूरी तरह से नाकाम रही है। वन विभाग व खनिज विभाग तथा प्रशासन की नाकामी के चलते अवैध रेत का उत्खनन करने वाले इन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। पुलिस प्रशासन इन रेत माफियाओं पर कार्रवाई नहीं करता और वन विभाग तथा खनिज विभाग का हवाला देकर अपना पल्ला झाड लेता है। सूत्र बताते हैं कि पुलिस की शह पर ही इन रेत माफियाओं के हौसले बुलंद हैं, अभी हाल ही सिविल लाइन थाने में पदस्थ थाना प्रभारी अजय चानना द्वारा इन रेत माफियाओं पर निरंतर कार्रवाई करने का बीडा उठाया है। शनिवार की सुबह सरायछौला थाना क्षेत्र के अंतर्गत बडेरिया मृगपुरा गांव के समीप अपने घर के बाहर खेल रहे नाबालिग सूरज व बंटी पुत्र जसवंत कुशवाह निवासी बडेरिया मृगपुरा को अज्ञात रेत की भरी ट्रेक्टर ट्राली ने कुचल दिया। जिससे उनकी मौत हो गई। हालांकि गांव वालों ने तेज गति से भाग रहे अवैध रेत की ट्रेक्टर ट्राली का पीछा किया, किंतु उनके हाथ भी कुछ नहीं लगा। पुलिस उक्त घटना के उपरांत मौके पर पहुंची और काफी छानबीन करने के बावजूद भी खाली हाथ बापस लौटकर आई। रेत माफियाओं के बुलंद हौसले के बजह से व प्रशासन की नाकामी के चलते आयेदिन ऐसी दुर्घटनाएं होती रहती हैं, किंतु प्रशासन इन माफियाओं पर कार्रवाई करने से पूरी तरह से नाकाम साबित हुआ है। जब भी कोई घटना होती है तो आनन फानन में मृत पडी टास्कफोर्स टीम को पुन: जीवित किया जाता है और उसे बीहड के इलाके में सर्चिंग के लिए भेज दिया जाता है, जबकि घटना से पूर्व के दिनों में टास्कफोर्स टीम लुप्त हो जाती है।

अवैध रेत से भरी ट्राली सहित कट्टाधारी दबोचा
मुरैना। सिविल लाइन थाना पुलिस ने बीती रात एक रेत से भरा ट्रेक्टर ट्रॉली को मुरैना गांव से पकड़ा है वहीं सिविल लाइन थाने में पदस्थ शिवप्रताप सिंह की मुस्तैदी के चलते एक युवक को 315 बोर के अवैध कट्टे के साथ पकड़ा गया। पुलिस कप्तान ने शिवप्रताप को 2000 रूपए का नगद पुरस्कार देने की बात भी कही है। जानकारी के अनुसार रिंकू पुत्र नेकराम गुर्जर निवासी मेवदा अपने ट्रेक्टर  ट्रॉली में चम्बल रेत भरकर ले जा रहा था, तभी पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस ने ट्रेक्टर ट्रॉली सहित ड्रायवर को भी धर दबोचा। वहीं दूसरी घटना में  सतीश गुर्जर निवासी मेवदा 315 बोर का कट्टा लेकर वारदात की नीयत से घूम रहा था। पुलिस ने मुखविर की सूचना पर आरोपी को पकड़े का प्रयास किया।

 इस दौरान आरक्षक शिवप्रताप की आरोपी से झड़प भी हुई, लेकिन आरक्षक शिवप्रताप ने साहस का परिचय देते हुए आरोपी को धरदबोचा पुलिस ने सतीश गुर्जर पर आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई की है तो वहीं पुलिस ने  ट्रेक्टर चालक पर कार्रवाई कर रेत से भरी ट्रेक्टर ट्रॉली की सूचना वन विभाग को दे दी है। सिविल लाइन थाना प्रभारी अजय चानना ने बताया कि पुलिस कप्तान ने उनके आरक्षक शिव प्रताप को नगद पुरस्कार के रूप में दो हजार रूपए देने की घोषणा की है।
फोटो फाइल- 17 मुरैना 01