बच्चों के पहले हीरोज होते हैं ‘पापा’

फादर्स डे पर ‘सोनी सब’ के कलाकारों की राय

मुंबई।  करण गोडवाणी ऊर्फ ‘टीवी, बीवी और मैं’ में कुशल ने फादर्स डे पर अपने पिता को याद करते हुए कहा मेरे पापा मुझसे अभी मीलों दूर हैं, वो अभी स्पेन में हैं, इसलिये मैं उन्हें स्काइप के जरिये विश करूंगा। यह मुझे कहने की जरूरत नहीं कि, पिता बच्चों के लिये कितने खास होते हैं। वे अपने बच्चों के लिये पहले हीरोज में से एक और उनके आदर्श होते हैं। उन्हें अपनी जिंदगी से जो कुछ मिलता है वो उन्हें दे देते हैं, ताकि उनका परिवार और बच्चे खुश रहें और मुस्कुराते रहें। वे बच्चों की जिम्मेदारियों को पूरे साहस और खुशी के साथ निभाते हैं। मेरी बात की जाये तो मैं अपने सपनों को जीता हूं। लेकिन, साथ ही अपने पिता के सपनों को भी। एक समय था, जब अपने जवानी के दिनों में वो भी अभिनेता बनना चाहते थे। जिम्मेदारियों के कारण वो अपने लिये समय नहीं निकाल पाते थे और एक अभिनेता बनने के सपने को पूरा करने के लिये जूझते रहते थे। लेकिन, उन्होंने मुझे पूरा समय दिया, सबसे अच्छी क्लास, सबसे अच्छी ट्रेनिंग दिलवाई। इससे मुझे अपनी क्षमताओं और प्रतिभाओं का पता चल पाया और एक अभिनेता बनने की हिम्मत मुझे मिली। मैं आज यहां आप सबके सामने उनकी वजह से ही हूं।

श्रुति सेठ ऊर्फ ‘टीवी, बीवी और मैं’ की प्रिया कहती हैं कि मैं अपने पिता के काफी करीब हूं और इस खास दिन (फादर्स डे) पर, मैं उन्हें लंच या डिनर पर ले जाना चाहूंगी, क्योंकि वो मेरी तरह ही फूडी हैं। स्कूल के दौरान मेरे पापा हमेशा ही गणित में मेरी मदद करते थे। अब मेरी बेटी की वजह से मेरे लिये उनका प्यार कम हो गया है, वो अपना सारा प्यार उस पर ही बरसाते हैं और वो भी उन्हें बहुत प्यार करती है।

पार्वती वेज ऊर्फ ‘सजन रे फिर झूठ मत बोलो’ की जया ने कहा इस साल फादर्स डे मेरे लिये काफी खास और भावनात्मक है, क्योंकि बदकिस्मती से मैंने पिछले साल अपने पिता को खो दिया। इसलिये, इस साल इस खास दिन पर मैं उन्हें बहुत मिस करूंगी। आज जो भी मैंने सीखा है, उसमें मेरे पिता की बहुत अहम भूमिका रही है।  

चिड़ियाघर की कोयल ऊर्फ अदिति सजवान ने कहा, मेरे पिता मेरे आदर्श हैं, चूंकि मैं उनकी पहली संतान हूं इसलिये पापा और मम्मी हमेशा मेरी चिंता करते रहते हंै। मेरे पापा को चॉकलेट खाना बहुत पसंद है, इसलिये इस फादर्स डे पर मैं उन्हें यही दूंगी। कोई भी दिन ऐसा नहीं होता, जब वो मुझे कॉल ना करते हों। मेरे पापा होम अप्लायंसेस से जुड़ा हर काम जानते हैं, बिजली से लेकर प्लबिंग तक, हर काम में वो माहिर हैं। इस साल मुझे दो पिता का प्यार मिलेगा, एक मेरे रियल पापा और दूसरे मेरे रील पापा। क्योंकि, मेरा ज्यादातर समय परदे वाले पिता के साथ बीतता है।