इन्होने क्रिकेट की राजनीति से कहा अलविदा

जयपुर। पूर्व आईपीएल प्रमुख ललित मोदी ने राजस्थान में नागौर जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के साथ ही क्रिकेट की राजनीति को अलविदा कह दिया है। इससे राजस्थान क्रिकेट में अच्छे दिन आने की संभावना बन गई है। ललित मोदी के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद अब राज्य संघ के लिए उम्मीद जगी है कि बीसीसीआई उस पर से प्रतिबंध हटा देगा और उन्हें फिर से खेल के विकास के लिए फंड मिलने लगेगा। मोदी के इस कदम को औपचारिक रूप से क्रिकेट से उनकी पारी की समाप्ति के रूप में देखा जा रहा है।

बता दें कि ललित मोदी पर भ्रष्टाचार में लिप्त रहने का आरोप था जिसके चलते वह क्रिकेट गतिविधियों से निष्कासित चल रहे थे। पूर्व आईपीएल प्रमुख ने राजस्थान क्रिकेट संघ को तीन पेज का इस्तीफा सौंपा और कहा कि मुझे लगता है कि यह समय अगली पीढ़ी को जिम्मेदारी सौंपने का है इसलिए मैं अब क्रिकेट प्रशासन को अलविदा कहने की घोषणा कर रहा हूं।

गौरतलब है कि 50 वर्षीय ललित मोदी खुद पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद देश से बाहर चले गए थे। ललित मोदी के नागौर क्रिकेट संघ से जुड़े रहने के कारण भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने राजस्थान क्रिकेट संघ पर प्रतिबंध लगा दिया था। ललित मोदी ने बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी को लिखे अपने पत्र में कहा कि क्रिकेट जगत से जुड़े हर व्यक्ति को मैं धन्यवाद देता हूं। भारतीय क्रिकेट के साथ मेरा सफर काफी लंबा रहा और इस दौरान मैंने इस खेल की बेहतरी के लिए प्रतिबद्धता से काम किया है। राज्य क्रिकेट संघ से भी मेरा जुड़ाव लंबी अवधि तक रहा और इस दौरान मैंने हर एक क्षण का लुत्फ उठाया।